मा0 सांसद श्री केशव प्रसाद मौर्य जी ने उत्तर प्रदेश सरकार की कार्य प्रणाली
 

मा0 सांसद श्री केशव प्रसाद मौर्य जी ने उत्तर प्रदेश सरकार की कार्य  प्रणाली के विरोध में मा0 उच्च न्यायालय द्वारा की गई तीखी टिप्पणी पर अपनी  प्रतिकिया व्यक्त करते हुए कहा कि 2012 में बनी सपा सरकार के गठन के साथ ही प्रदेश में तुष्टीकरण एवं अपराधियों को संरक्षण देने का कार्य प्रदेश सरकार द्वारा किया जा रहा है। इस सरकार के शासनकाल में लोक सेवा आयोग जैसे संवैधानिक एवं पवित्र संस्थानों को भी दूषित करने का एवं भ्रष्टाचार का  केन्द्र बनाने का कार्य भी किया गया है। लोक सेवा आयोग द्वारा पी0सी0एस0 परीक्षा का पेपर लीक होने के मामले का सड़क से लेकर संसद तक भाजपा के  नेताओं ने लगातार विरोध किया लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा आयोग के अध्यक्ष के खिलाफ कोई भी कार्यवाही नहीं की गई। प्रदेश के छात्रों के भविष्य के साथ  आयोग के अधिकारी खिलवाड़ करते रहे और प्रदेश सरकार मूक दर्शक बनी रही। भाजपा के विरोध और आन्दोलन को सपा के लोग राजनैतिक स्टंट कहकर अपने  भ्रष्टाचार को छुपाने का कुत्सित प्रयास करते  रहे, लेकिन मा0 उच्च न्यायालय द्वारा पेपर आउट होने के घटना को संज्ञान लेने से पता चलता है कि  प्रदेश सरकार द्वारा आयोग में हो रहे भ्रष्टाचार का संरक्षण प्राप्त है।
इसी प्रकार मा0 उच्च न्यायालय ने सरकार द्वारा आतंकियों एवं अपराधियों के मुकदमों को वापस लेने को भी गम्भीर टिप्पणी की है। इस मुद्दे पर भी भाजपा ने लगातार विरोध किया है तथा प्रदेश सरकार द्वारा किये जा रहे तुष्टीकरण का विरोध किया है। मा0 सांसद जी ने कहा कि प्रदेश के मुखिया को किसी एक वर्ग या जाति विशेष का मुख्यमंत्री बनकर नहीं अपितु प्रदेश की 20 करोड़ जनता का मुखिया बनकर काम करना चाहिए तथा अपराधियों एवं आतंकियों को संरक्षण देने के स्थान पर उन्हें कड़ी दण्डात्मक कार्यवाही करना चाहिए। भाजपा के वरिष्ट नेता श्री अमर नाथ तिवारी, फूलपुर चेयरमैन अमर नाथ यादव, दिवाकर नाथ त्रिपाठी, रवि केशरवानी, कुंज बिहारी मिश्रा, दिलीप श्रीवास्तव, पिंटू कुशवाहा, रामप्रकाश आदि ने किया।

Twitter
Latest News

© 2014 Keshava Prasad, All Rights Reserved.


=